These 4 serious diseases go away by eating neem leaves daily, know how to consume it

Neem Wood – Indisutrasरोजाना नीम की पत्तियां खाने से दूर हो जाती हैं ये four गंभीर बीमारियां, जानिए सेवन करने का तरीका

Blessings of Neem Leaves: नीम कड़वे स्वाद के बावजूद अपने औषधीय गुणों के कारण जानी जाती है। आइए जानते हैं विस्तार से।

नीम की पत्तियों के कड़वे स्वाद से हम अनजान नहीं हैं। साथ ही इन पत्तियों के अद्भुत स्वास्थ्य लाभों और औषधीय गुणों से भी अनजान नहीं। हम अक्सर अपने माता-पिता और दादा-दादी को इन पत्तियों के औषधीय गुणों के बारे में बात करते हुए सुनते हैं और वे हमें इनका सेवन करने की सलाह भी देते हैं। यही नहीं, किशोर बच्चों को नीम की पत्तियों से बने पेय खाली पेट पीने के लिए भी कहा जाता है। आइए जानते हैं इसके पीछे का कारण।

नीम की पत्तियां चबाने के अनजाने फायदे – (Unknown blessings of Chewing Neem Leaves in Hindi)
1- नीम का सेवन पेट को ठीक रखता है
खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन आंत और आहार नलिका को कीटाणुओं से बचाता है। दरअसल, आजकल बिगड़ी जीवन शैली और अनहेल्दी खानपान की वजह से हमारा पेट बहुत से संक्रमणों से घिरा रहता है। ऐसे में नीम की पत्तियों का सेवन हमारे पेट को बीमारियों का घर बनने से रोक सकता है।

2- लिवर स्वस्थ रहता है
खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन करने का एक और फायदा यह है कि यह लिवर को स्वस्थ रखता है। नीम की पत्तियों के एंटी इंफ्लेमेटरी गुण, मुक्त कणों के कारण होने वाले ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़ते हैं। जिससे ऑक्सीडेटिव तनाव लिवर के ऊतकों को नुकसान नहीं पहुंचा पाता।

3- शुगर लेवल रहता है कंट्रोल
नीम का कड़वा स्वाद ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है। अगर आपको ब्लड शुगर की समस्या है तो नीम की पत्तियों का सेवन कर सकते हैं। नीम के पत्तों का सेवन न केवल डायबिटीज कंट्रोल करता है बल्कि अन्य बहुत से स्वास्थ्य लाभ भी दे सकता है।

4- नीम के सेवन से कब्ज होता है दूर
नीम की पत्तियों का सबसे अधिक उपयोग पेट से संबंधित समस्याओं को ठीक करने में होता है। इनमें सबसे आम है कब्ज और पेट की सूजन। नीम की पत्तियों में मौजूद फाइबर मल त्याग को आसान बना सकते हैं और सूजन से भी राहत दिला सकते हैं।

कैसे करें नीम का सेवन
आमतौर पर, नीम की पत्तियों को मूसल का उपयोग करके पेस्ट बनाया जाता है और इससे प्राप्त रस का सेवन किया जाता है।
नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाते समय सावधानी बरतें, क्योंकि इसका स्वाद बहुत कड़वा होता है और ओखली-मूसल से साफ करने के बाद भी इसकी कड़वाहट बरकरार रहती है।
हमेशा ताजी बनी नीम की पत्तियों के रस का सेवन करें।
इसके अलावा, आप नीम की पत्तियों को तवे पर सूखा भून लें और फिर उन्‍हें पीसकर उसमें लहसुन और सरसों का तेल मिलाकर, चावल के साथ इसका सेवन कर सकते हैं।

ध्यान देने योग्य बातें
एक समय में बहुत सारी नीम की पत्तियों का सेवन न करें। बहुत से लोग सोचते हैं कि जितना अधिक वे अच्छा खाना खाएंगे, उतना ही बेहतर पोषण उन्हें मिलेगा। लेकिन सीमित मात्रा में ही नीम का सेवन करें। याद रखें कि ये दवा का विकल्प नहीं है। यदि आपको कोई शारीरिक समस्या है, तो पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें। अपनी डाइट में किसी भी तरह के बदलाव से पहले एक्सपर्ट की सलाह लेना बेहद जरूरी है।

Categories:

No Responses

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories